Friday, June 25, 2010

मैथिली हाइकु : एक प्रयास

" मैथिली हाइकु : एक प्रयास "

हाइकु छैक  
विधा सरल तैयो
रचि ज्यों पाबि  

हमरा लेल 
गर्वक गप्प बस 
हमहू  जानि 

नहि बुझल 
इ विधाक लिखब
कोन आखर 

सलिल जीक 
इ मार्ग प्रदर्शन 
भेटल जानी 

मोन प्रसन्न 
भेटल नव विधा 
छी तैयो शिष्या

डेग बढ़ल 
सोचि नहि छोरब  
ज्यों दी आशीष 

- कुसुम ठाकुर -

Post a Comment
चिट्ठाजगत IndiBlogger - The Indian Blogger Community